दरभंगा: आगामी 09 मार्च को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत की सफलता को लेकर जिला एवं सत्र न्यायाधीश-सह-जिला विधिक सेवा प्राधिकार के अध्यक्ष विनोद कुमार तिवारी ने न्यायिक पदाधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक की।

उन्होंने पदाधिकारियों से कहा कि इस लोक अदालत के जरिए अधिक से अधिक लोगों को सुलभ न्याय उपलब्ध कराना हम सभी का दायित्व है। उन्होंने कहा कि इसके लिए सभी का सहयोग अपेक्षित है,अधिवक्ताओं,अधिवक्ता लिपिकों और न्यायालय कर्मचारियों के जरिए पक्षकारों को न्यायालय में बुलाकर प्रि-काउंसलिंग करें।

उन्हें लोक अदालत के फायदों से अवगत करावें,जितना अधिक प्रि-काउंसलिंग होगा उतना अधिक मामलों का निष्पादन होगा। उन्होंने कहा कि परिणामस्वरूप अदालतों से मुकदमों का निष्पादन होगा।

बैठक में अवर न्यायाधीश-सह-प्राधिकार सचिव रंजन देव सहित दरभंगा सदर के सभी न्यायिक अधिकारी उपस्थित थे। वही बैंक अधिकारियों के साथ भी जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने समीक्षात्मक बैठक किया। उन्होंने बैंक अधिकारियों से कहा कि अभी तक जो बैंकों से रिपोर्ट प्राप्त हुए हैं,वह धीमी पाई गई है। उन्होंने कहा कि कुछ बैंक अभी भी लोक अदालत में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं।

सभी बैंक अपने सभी शाखाओं को निर्देशित करें कि वे लोक अदालत के लिए नोटिस तैयार करें। अवर न्यायाधीश-सह-प्राधिकार सचिव रंजन देव ने कहा कि लोक अदालत के लिए मुकदमा पूर्व मामलों की संख्या बहुत ही कम है।

उन्होंने कहा कि सबसे अधिक मामले बैंकों के ही होते हैं,जल्द से जल्द इन आकड़ों को बढ़ाया जाए।

बैठक में कैनरा बैंक,यूनियन बैंक,बैंक ऑफ महाराष्ट्र आदि के अधिकारी उपस्थित थे।