दरभंगा: बिहार लघु उद्यमी योजना के अन्तर्गत जातीय सर्वें में सर्वेक्षित 02 करोड़ 76 लाख परिवारों में से आर्थिक रूप में 94 लाख गरीब परिवारों के उत्थान/स्वरोजगार के लिए सरकार 02 लाख रूपये परिवार के कम से कम एक सदस्य को अनुदान के रूप में उपलब्ध कराएगी, यह राशि पुनः वापस नहीं ली जाएगी।

इसके लिए राज्य सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए 250 करोड़ रूपये एवं वित्तीय वर्ष 2024-25 में 1,000 करोड़ रूपये के बजट का  प्रावधान किया गया है।

दरभंगा जिले के आर्थिक रूप से गरीब परिवारों के लिए यह एक सुनहारा अवसर है। इसके लिए सोमवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा udyamibihar.gov.in पोर्टल का शुभारंभ किया गया। इस पोर्टल के माध्यम से भी आवेदन लिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि गरीब परिवारों में 10 लाख 85 हजार 913 सामान्य वर्ग के, 24 लाख 77 हजार 970 पिछड़ा वर्ग के, 33 लाख 19 हजार 509 अत्यंत पिछड़ा वर्ग के, 23 लाख 49 हजार 111 अनुसूचित जाति के एवं 02 लाख 809 अनुसूचित जनजाति के परिवार हैं। गौरतलब है कि आवेदकों का चयन कम्प्यूटरीकृत रेंडमाइजेशन से किया जाएगा। 05 फरवरी से 20 फरवरी तक यह योजना के लिए आवेदन लिया जाएगा। आवेदक की उम्र 18 से 50 वर्ष के बीच होनी चाहिए। आवेदक बिहार का निवासी हो तथा उसके आधार पर बिहार का ही पता हो एवं परिवारिक आय प्रतिमाह 06 हजार से कम होनी चाहिए।

यह लाभ वैसे लोगों को नही मिलेगा, जो मुख्यमंत्री उद्यमी योजना (अनुसूचित जाति/जनजाति, अत्यंत पिछड़ा वर्ग, महिला, युवा, अल्पसंख्यक) में लाभ प्राप्त कर चुके है। इसमें 61 प्रकार के कार्य के लिए अनुदान किया जाएगा, जिसकी सूची DM Darbhanga फेसबुक पर देखा जा सकता है।

उक्त अवसर पर दरभंगा एन.आई.सी. से जिलाधिकारी राजीव रौशन, संयुक्त निदेशक, जन सम्पर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, जिला सूचना एवं विज्ञान पदाधिकारी राजीव कुमार झा एवं अन्य संबंधित पदाधिकारीगण उपस्थित थे।